Periods Problem [Hindi] पीरियड्स मिस होने पर जल्दी कैसे लायें, यहाँ देखें कुछ घरेलू उपाय

irregular periods in Hindi- पीरियड्स समय पर न होने की वजह से, ज़्यादातर महिला व युवतियाँ परेशान रहती हैं. अधिकतर महिलाओं या नयी उम्र की लड़कियों को जीवन में कभी न कभी पीरियड्स से सम्बंधित किसी न किसी प्रकार की समस्या पायी जाती है.

मासिक धर्म से जुड़ी इस तरह की दिक्कतें होना इनमें आम बात है. इसके बहुत से कारण हो सकते हैं. कुछ मुख्य वजह यहाँ हम बता रहे हैं, और महिलाओं की अनियमित मासिक धर्म की समस्या का समाधान भी बताएँगे.

वैसे नारी में irregular periods की problem का सीधा संबंध उनके शरीर में मौजूद हार्मोन्स की वजह से ही होता है. जिसके बारे में आपको और विस्तार से जानकारी नीचे पढ़ने को मिलेगी.

irregular periods in Hindi

जब महिलाओं का हार्मोन्स बेलेंस [Harmon’s Balance] गड़बड़ हो जाता है, तब मासिक धर्म से जुड़ी समस्याएं होने लगती हैं. जैसे अनियमित मासिक धर्म आना Irregular Periods Problem मतलब पीरियड्स बहुत देर से आना.

ख़ासतौर पर नवविवाहित युवतियों में शादी के बाद पीरियड्स अनियमित होने की समस्या (Irregular Periods After Marriage) आने लगती है.

हमारी ज़िंदगी में बहुत सी ऐसी परेशानियां आ जाती हैं, जिनकी वजह से हमें क्लेश और मानसिक तनाव हो जाता है. अधिक तनाव में रहने की वजह से भी पीरियड्स का समय चक्र गड़बड़ हो जाता है|

और ऐसे में उनको पीरियड्स समय पर लाने के लिए दवाइयों का सहारा लेना पड़ता है. लेकिन ये इस समस्या का सही समाधान नहीं है.

कुछ महिलाओं को मजबूरीवश अपने पीरियड्स के समय को रोकना, (Periods Delay) करना पड़ता है.

How To Deal With Irregular Periods Problem

पीरियड्स न होने पर क्या करें | How To Deal With Irregular Periods

अगर किसी को, पीरियड्स देर से आने की समस्या होने लगती है, तो उसको मेडिसिन के अधिक उपयोग से पीरियड्स नियमित समय पर नहीं कर सकते.

इसको सुचारू रूप से नियमित करने के लिए आपको अपनी दैनिक दिनचर्या में सुधार करना भी ज़रूरी है.

  • हमेशा अनियमित माहवारी की समस्या होने पर मासिक धर्म डेट आने के 4-5 दिन पहले से ही पपीता खाना चालू कर दें
  • अजवायन के सूखे पत्ते गर्म पानी में उबालें, ठंडा होने पर छानकर पियें
  • मासिक धर्म आने से पहले अनानास खाना चालू कर दें, या इसका जूस भी पी सकतीं हैं
  • नाभी के निचले हिस्से में अरंडी के तेल से हलके हाथ से मसाज करें
  • मासिक धर्म आने से पहले ही, नाभी के निचले हिस्से में पानी की बोतल से सिकाई करना चालू कर दें
  • ज्यादा स्ट्रीट फ़ास्ट फ़ूड (Fast Food) खाने से बचें, जैसे बर्गर, पिज़्ज़ा, पानी की टिक्की, और समोसे, कचौरी

महिलाओं में पीरियड्स का अनियमित होना उनके मातृत्व Pregnant होने पर भी प्रभाव डाल सकता है. इसीलिए Irregular Periods Problem को कभी हलके में न लें. रात को बहुत ज्यादा देर तक जागने की आदत न डालें.

हालांकी जब आपके पीरियड्स आने वाले होते हैं तो आपका शरीर संकेत देने लगता है. उस दौरान बाहर की चीज़ें खाने का मन होता है| मीठा खाने का दिल करता है.

कुछ महिलाओं को बिलकुल भूख नहीं लगती, जबकी कुछ को बहुत ज्यादा लगने लगती है. Behavior में अजीब तरह की बैचेनी और पेट में एंठन (Hardness) होना.

किसी भी काम में दिल न लगना, स्तनों का कठोर (Breast Hard) हो जाना इस तरह के संकेत मिलने लगते हैं.

पीरियड्स मिस होने के कारण | Reason of Late Periods In Hindi

  • हार्मोन में बदलाव
  • अनियमित व पौष्टिक आहार न लेना
  • अधिक तनाव के कारण
  • शरीर में खून की कमी होना
  • गर्भनिरोधक दवाओ और दूसरी दवाओ के कारण
  • गर्भधारण के बाद अथवा गर्भपात की स्थिति में
  • शरीर का वजन बहुत कम या ज्यादा होने के कारण
  • PCOS (Poly Cystic Ovarian Syndrome) की वजह से
  • Thyroid की समस्या के कारण
  • बहुत ज्यादा व्यायाम करने से
  • लीवर की समस्या के कारण
  • स्तनपान करवाने के कारण
  • टीबी की बीमारी की वजह से

पीरियड्स मिस होने के लक्षण | Irregular Periods Symptoms Hindi

Irregular Periods Symptoms Hindi

पीरियड्स मिस किसी कारण के बिना नहीं होता है. लेकिन जब ये मिस होने लगता है, तो हमें कुछ लक्षण दिखने लगते हैं. लेकिन हम उन पर ध्यान नहीं देते और अपने काम में व्यस्त रहते हैं|

हम पीरियड्स पर ध्यान तब देते हैं, जब वह देर से आता है या फिर मिस हो जाता है. तो आइये जानते; हैं पीरियड्स मिस (Periods Miss) होने पर दिखने वाले लक्षणों (Symptoms) के बारे में.

  • हल्का मामूली सा रक्तस्त्राव होना
  • शरीर का तापमान बढ़ाना
  • स्तन में बदलाव होने का महसूस होना
  • बहुत अधिक थकान होना
  • जी मचलाना
  • पेट का फूलना और दर्द होना
  • बार-बार बाथरूम (Toilet) जाना
  • खाने से चिढ़ होना, खाना देखकर खाने का मन न होना
  • चक्कर आना
  • अधिक तनाव होना
  • खुद को स्वस्थ महसूस ना करना

पीरियड्स नहीं आने पर खाना चाहिए | What To Eat If Periods Are Not Coming

पपीता का उपयोग: पीरियड्स न होने पर आप घबराएं नहीं. पपीते में एक ऐसा पदार्थ पाया जाता है, जो पीरियड्स की समस्या से निजात दिलाने से सहायक होता हैं.

पपीते में (Bromelain) नाम का पदार्थ पता जाता है, पपीते से सिकाई करने या फिर इसके रस; का रोजाना सेवन करने से भी फायदे होते हैं (1)|

How To Get Periods Immediately If Delayed - पीरियड्स न होने की वजह

पीरियड्स को लाने के लिए आप कच्चे पपीता का सेवन करें, ये पीरियड्स के लिए बहुत अच्छा होता है. इसे आप; सब्जी बना कर भी प्रयोग कर सकते हैं.

आप कुछ हफ़्तों तक नियमित रूप से (Regular) पपीते का सेवन करें. इससे आपको; जल्द ही अनियमित पीरियड्स Irregular Periods की समस्या से राहत मिल जाएगी.

सौंफ का उपयोग | Benefits of Fennel For Periods

सौंफ Fennel के सेवन से आप अनियमित पीरियड्स की समस्या से राहत पा सकते हैं. सौंफ में ठंडक होती; है, जो शरीर को ठंडक देती हैं.

  • इसके लिए आप दो चम्मच सौंफ (Fennel) लें, और इसे एक गिलास पानी में रात भर के लिए भिगो कर रख दें
  • पीरियड्स न होने पर ये तरीका बहुत ही असरदार है
  • सुबह होते ही आप इस पानी को छान कर पी लें
  •  इससे आपको बहुत ही जल्द नियमित रूप से पीरियड्स (Regular Periods) आने लगेगा
  • फिर कभी भी आपको अनियमित पीरियड्स की समय नहीं होगी

लोकी का रस | Benefits of Bottle Gourd For irregular periods in Hindi

अनियमित पीरियड्स की समस्या से छुटकारा पाने के लिए, लोकी के रस को सबसे कारागार माना जाता; है. लोकी में आयरन और फाइबर की मात्रा अधिक होती है, जो पीरियड्स के समय लाभदायक होते हैं.

जब आपको पीरियड्स होता है, तब आपकी कमर में दर्द और Cramps की परेशानी होती है. पीरियड्स न होने; पर लोकी के रस इस्तेमाल जरूर करें.

ऐसी स्थिति में लोकी का रस न केवल मासिक धर्म (Periods) को नियमित करता है, वल्की ये आपको; शारीरिक रूप से भी कई तरह के फायदे पहुंचाता है. जैसे के शरीर में वज़न कम करना, Immunity System को बेहतर बनाना.

लोकी का रस निकाल कर दिन में दो से तीन बार तक लें. इसकी सब्जी का सेवन करने से भी आपको फायदे मिलते हैं. आप चाहे तो लोकी (Bottle Guard) की सब्जी का भी सेवन कर सकती हैं.

अदरक का उपयोग | Benefits of Ginger For Periods

आप अदरक (Ginger) की चाय या काढ़ा बना सकते हैं. अदरक का काढ़ा बनाना बहुत आसान है. इसके लिए एक आसान विधी देखें.

  • एक चम्मच अदरक को एक गिलास पानी में डालें
  • अब इसको अच्छे से उबाल, (Boil) कर लीजिये
  • इसके बाद इसमें आप अपने स्वादानुसार एक चम्मच चीनी या शहद मिला सकते हैं
  • अब अदरक का काड़ा बनकर पीने के लिए तैयार है

आप इस अदरक के काढ़े को दिन में 2-3 बार पी सकते हैं. दोपहर में खाना खाने (Lunch) के बाद लेना बेहतर रहेगा.

अंजीर का उपयोग

आप 2 से 3 अंजीर लें, और एक गिलास पानी ले फिर अंजीर को पानी में Boil कर लें, जब तक पानी आधा न रह जाए.

फिर इस काढ़े को छान लें और इसे पी लें. अंजीर का ऐसे प्रयोग Irregular Periods Problem की समस्या से छुटकारा मिल जाता हैं.

Leave a Reply