एलोवेरा के फायदे और नुकसान

एलोवेरा: एलोवेरा के बारे में तो आप सब जानते ही हैं एलोवेरा को हम ग्वारपाठा भी कहते हैं| ये आमतौर पर सभी के घरों में पाया जाता हैं. और लोग इसका इस्तेमाल भी करते हैं लेकिन लोग इसका इस्तेमाल  सिर्फ उन्ही लाभों के लिए करते हैं| जिनके बारे में उन्हें पता हैं इसलिए आज हम आपको बताते हैं| एलोवेरा के फायदे और नुकसान के बारे में|

एलोवेरा

ये एक औषधीय पौधा हैं जो विश्व भर में प्रचलित हैं| इसकी उत्पत्ति उत्तरी अफ्रिका में हुई थी| इस पौधे के गुणों के आधार पर इसे औषधीय पौधे के रूप में मान्यता दी गई हैं| इसका उपयोग आयुर्वेद में भी किया जाता हैं| इसका उल्लेख तो हमारे पुराने ग्रंथों और पुराणों में भी किया गया हैं|

एलोवेरा के औषधीय गुण

एलोवेरा में कई पोष्टिक तत्व पाए जाते हैं| इनमें 12 विटामिन, 18 अमीनो एसिड, 20 खनिज, 75 पोषक तत्व और 200 सक्रिय एंजाइम होते हैं| सिर्फ इतना ही नहीं बल्कि इसमें कई रासायनिक गुण जैसे खनिज कैल्शियम, जस्ता, तांबा, पोटेशियम, लोहा, सोडियम, मैग्नीशियम, क्रोमियम और मैंगनीज प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं|

इसके अलावा भी इसमें विटामिन के गुण भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं| विटामिन ई, विटामिन सी, विटामिन बी 12, बी 6, बी 2, बी 1, विटामिन ए, बी 1, बी 2, बी 6, नियासिन और फॉलिक एसिड शामिल है| इसके उपचार से हमें कई साकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं|

एलोवेरा के फायदे 

एलोवेरा के फायदे 

एडॉप्टोजेन: आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में बदलते हुए खान-पान का असर सीधे हमारी हेल्थ पर पड़ता हैं| जिससे कई बीमारियाँ जन्म लेने लगती हैं| एडॉप्टोजेन मानव शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत करने, और वातावरण में होने वाले बदलावों के प्रभाव को तेजी से शरीर में ढालता हैं|

एलोवेरा में पर्याप्त मात्रा में पॉलिसैचेराइड्स, वायरस से लड़कर कई प्रकार की बीमारियों से शरीर को सुरक्षित रखते हैं| इसके लिए आप एलोवेरा का जूस लें, ये आपके शरीर को तनाव से लड़ने की क्षमता देगा इसके अलावा आपको बीमारी से बचाने में सहायक होगा|

पाचन क्रिया में सहायक: यदि आपको हमेशा अपने पेट में गैस बनने और खाना ना पचाने की परेशानी होती हैं| तो आपको एलोवेरा का उपयोग करना चाहिए, ये आपके पेट की किसी भी प्रकार की समस्या को समाप्त कर देता हैं|

इसके लिए आप 20 ग्राम एलोवेरा के रस में शहद और नींबू मिलाकर सेवन करें| यह पेट की बीमारी को दूर तो करता ही हैं और साथ ही पाचन शक्ति को भी बढ़ाता है|

कब्ज़ की समस्यां: कब्ज की समस्या अधिकतर बहुत ज्यादा लोगों में होती हैं| हर दूसरा इन्सान कब्ज की समस्या में परेशान रहता ही हैं| ये समस्या किसी भी उम्र में हो सकती हैं| इसके लिए आप ऐलोवेरो का उपयोग करें ये आपके लिए फायदेमंद होगा|

इसके लिए आप एलोवेरा के रस का सेवन करें छोटे बच्चों में कब्ज के लिए जूस व हींग मिलाकर नाभि के चारों ओर लगा दें| इसके अलावा यकृत मे बड़ रही सूजन में इसके गुदे का सेवन सुबह-शाम करने से यकृत की कार्यक्षमता बढती है| इससे पीलिया रोग भी दूर होता है|

एलोवेरा का जैल

बालों के लिए एलोवेरा: बालों के लिए तो एलोवेरा अमरवूटी के सामान हैं| बालों का झड़ना, बालों का सफेद होना बालों का रूखापन इस तरह की किसी भी समस्या को एलोवेरा के प्रभाव से दूर किया जा सकता हैं|

आपको इसके लिए एलोवेरा जेल को सिर्फ आधे घंटा लगाना हैं| इसके बाद आप उसको धो सकते हैं ऐसा आप महीने में सिर्फ दो बार करें| आपको इसके परिणाम कुछ ही महीनों में दिखाई देने लगेंगे| यह रूखे बालों को को ऑयली करने में सहायक होता हैं|

एलोवेरा जूस फायदे

अगर आपके बाल जड़ से खत्म हो रहे हैं, तो एलोवेरा का रस नियमित सिर पर लगाते रहने से नए बाल आने लगते हैं| इसका गूदा या जैल को निकालकर मेंहदी के साथ मिलाकर बालों की जड़ों में लगाएं इससे रूसी खत्म होने के साथ बाल काले, घने-लंबे एवं मजबूत बनते हैं|

एलोवेरा का जैल बनाकर बालों की जड़ों पर लगाए जाने से बालों में चमक आती हैं| और यह एक प्राकृतिक कंडीशनर के रूप में काम भी करता हैं| यह सिर के पीएच स्तर को संतुलित कर बालों मोस्चराइजड रखता हैं और बालों के विकास को बढ़ावा देता हैं|

एंटी सेप्टिक, एंटी बैक्टीरियल और एंटी फंगल

इसमें कोई शक नही कि एलोवेरा दुनिया का सबसें बढि़या एंटीबाईटीक और एंटीसेप्टिक गुण वाला होता हैं| जो हमारे शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता हैं| और हमारे शरीर को लगभग 21 अमीनोएसिड की जरूरत होती हैं|

एलोवेरा से 18 अमीनोएसिड की मात्रा को पूरा करता हैं इन गुणों से भरपूर एलोवेरा में सेपोनिन नामक तत्व होता हैं| जो शरीर की अंदरूनी सफाई करता है तथा रोगाणु रहित रखने का गुण रखता हैं| इसके अलावा खतरनाक बीमारियों से निजात भी दिलाता हैं| यह एड्स जैसी बीमारी में भी खास साबित होता हैं|

रियूमाटोईड अर्थरोइटिस: इस रोग में काफी दर्द होता हैं इसमें रोगी के हाथ, पैर और जोड़ों में दर्द, अकड़न या सूजन होती हैं| साथ जोड़ों में गांठें बन जाती हैं और शूल चुभने जैसी पीड़ा होती है, इसलिए इस रोग को गठिया रोग भी कहते हैं|

जिसका सही इलाज एलोवेरा में पाया गया हैं| सबसे पहले इसके दो फांक कर लें फिर इसमें हल्दी भरकर हल्का गर्म कर लें| और प्रभावित भाग पर लगातार पट्टी लगायें ऐसा आप लगातार 10 से 15 दिनों तक करें|

गठिया, जोड़ो में दर्द, मोच या सूजन में काफी राहत मिलेगी| जोड़ो के दर्द में एलोवेरा जूस का सेवन सुबह-शाम खाली पेट करें और प्रभावित जोड़ो पर लगाने से विशेष फायदा होता हैं|

ह्रदय रोग और मोटापा

आज की सबसे जटिल समस्यां हमारे शरीर में बढ़ता मोटापा हैं| जो ह्रदय रोग होने का मुख्य कारण बनती हैं| मोटापे से शरीर में तेजी से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता हैं| और धीरे धीरे रक्तवाहिनी में वसा का जमाव होता हैं|

एलोवेरा का रस बेहद फायदेमंद होता हैं| एलोवेरा जूस रोजाना 20मिली-30मिली की मात्रा में पीने से शरीर में अन्दर से भरपूर तन्दुरूस्ती तथा ताजगी का अहसास होता हैं| तथा ऊर्जा का उच्च स्तर बना रहता हैं| इससे वजन भी शरीर के अनुकूल रहता हैं|

कोलेस्ट्रॉल का स्तर बनाए रखने में सहायक: हमारे शरीर का मोटा होने से शरीर में कोलेस्ट्रॉल तेजी से बढ़ता हैं| इसी कोलेस्ट्रॉल को कम करने में एलोवेरा सबसे महत्वपूर्ण रूप से काम करता हैं|

मधुमेह से लड़ने में: यदि आप डायबिटीज की समस्यां से परेशान हैं| तो 10 ग्राम एलोवेरा के रस में 10 ग्राम करेले का रस मिलाकर कुछ दिनों तक सेवन करने से डायबिटीज से मुक्ति मिल जाएगी| साथ ही 20 ग्राम आंवले के रस में 10 ग्राम एलोवेरा के गूदे को मिलाकर प्रतिदिन सुबह सेवन करें|

एलोवेरा के नुकसान

  • एलोवेरा के रस में एक Anthraquinone नामक पदार्थ होता हैं| जिसे ज्यादा मात्रा में लेने पर दस्त की परेशानी हो सकती हैं|
  • इसका सेवन करने से पहले चिकत्सक से सलाह जरुर लें लें यदि आप दवा लें रहे हैं| तो आप एलोवेरा का उपयोग डॉक्टर की सलाह बिना न करें|
  • गर्भवती और स्तनपान की महिलाओ को इसका सेवन नहीं करना चाहियें|
  • 12 साल से कम उम्र के बच्चो के लिए इसे नहीं देना चाहिए|

एलोवेरा जूस फायदे

ऐलोवेरो के जूस को प्रतिदिन सेवन में लेने से एनर्जी आती हैं| और ये हमारे शारीर की अन्दर से सफाई करती हैं| और हमारे शारीर को रोगाणु से मुक्त रखने में मदद करता हैं| एलोवेरा के जूस का सेवन बालों में करने पर बाल चमकदार हो जाते हैं और स्वस्थ भी रहते हैं|

फटी एड़ियों में एलोवेरा को लगाने पर ये बहुत ही जल्द ठीक हो जाती हैं| इसके जूस को पिने से त्वचा हमेशा नमी में रहती हैं| और चमकदार भी रहती हैं इसका उपयोग कोई भी व्यक्ति कर सकता हैं| ये नुकसान नहीं करता हैं सिर्फ ऊपर बताये गए कारणों के सिवा|

ये शारीर में ब्लड सेल्स की संख्या में बढ़ोतरी करती हैं| एलोवेरा का उपयोग सर पर करने में ये गंजेपन को भी धीरे धीरे दूर करता हैं| इसके सेवन से आप स्वस्थ रहते हैं और साथ ही वज़न भी कम होता हैं| एलोवेरा जूस मुंह के छालो को भी ठीक करता हैं| आप चाहे तो फेसवास के रूप में भी इसका उपयोग कर सकते हैं|

आपको यह हमारी एलोवेरा के फायदे और नुकसान वाली पोस्ट कैसी लगी? दोस्तों आपको कुछ पूछना हो या सुझाव देना चाहते हैं, तो नीचे कमेंट बॉक्स में आपका स्वागत है, इसके लिए भी आप हमें लिख सकते हैं, आपको इस वेबसाइट पर कौनसी बीमारी से सम्बंधित जानकारी चाहिए|

HealthTipsInHindi is now Officially in English, Go to Viral Home Remedies For Latest Health Tips , Remedies and Treatments in English