पेशाब के रंग से अपने स्‍वास्‍थ के बारे में जानकारी – Health Tips Hindi Me

अपने पेशाब के रंग से आप अपने शरीर के संकेतों को जान सकते हैं क्या आपका शरीर कैसे स्वास्थ्य लेवल पर है तो चलिए पढ़ते हैं कुछ अपने शरीर के संकेतों के बारे में अपने पेशाब के रंग से आप पता लगा पाएंगे क्या आपका शरीर कितना स्वस्थ है या आप बीमार हैं.

पेशाब के रंग से जानें अपने शरीर के स्वास्थ्य का लेवल

दोस्तों जहां इस पोस्ट में हम आपको आज बताएंगे पेशाब के रंग से आप किस तरह अपने शरीर का स्वास्थ्य स्तर पता कर सकते हैं पेशाब के रंग के जरिए आपके शरीर का स्वास्थ्य लेवल इसलिए पता पड़ जाता है क्योंकि सारी बीमारियां पेट से होती है. और आपने भी देखा होगा जब आप आश्वस्त होते हैं तो आप के पेशाब का रंग बदल जाता है नीचे संकेतों को आप पढ़ सकते हैं और यह तय कर सकते हैं कि आपको अब क्या करना है. यूरिन इंफेक्शन को रोकने के लिए आप हमारी इस पोस्ट को पढ़ सकते हैं यूरीन इन्फेक्शन और उसका सरल उपाय

वैसे तो मानव शरीर में प्रत्येक अंग महत्वपूर्ण है लेकिन सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण हमारे लिए गुर्दे का महत्व है क्योंकि गुर्दा हमारे शरीर से गंदगी को साफ करने में अहम भूमिका निभाता है, और अगर जरा सी भी गड़बड़ होती है तो हमें पेशाब के रंग के जरिए पता चल जाता है क्योंकि पेशाब का रंग बदलना आपके शरीर के अंदर रोग के जन्म लेने के संकेत होते हैं.

पेशाब का रंग हल्का पीला होना :- अगर आपके मूत्र का रंग हलका पीलेपन पर है या फिर बिल्कुल पानी की तरह साफ है इसका मतलब है आपके शरीर का प्रत्येक अंग भली भांति कार्य कर रहा है और आपको चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है.

पेशाब का रंग पीला होना :- अगर आपकी यूरिन का रंग पीले रंग का है इसका मतलब है कि आपको पानी की कमी हो चुकी है. अगर आप पानी कम पीते हैं तो पहले से अधिक मात्रा में पानी पीना चालू कर दें ये अपने आप अपने सामान्य रंग में बदल जाता है.

पेशाब का रंग गाढ़ा पीला होना:- और यदि आपके यूरिन का रंग एकदम से गाढ़ा और पीले पन पर है तो यह अच्छे संकेत नहीं हैं इसका मतलब है आप का लिवर सही तरीके से काम नहीं कर रहा और आपको लीवर की या फिर हेपेटाइटिस की प्रॉब्लम हो सकती है. गोरा होने के लिए गाजर से फेस पैक कैसे बनाएं

पेशाब का दूधिया सफेद रंग :- अगर आप का पेशाब दूधिया सफेद रंग का है तो इसका मतलब है कि आप के पेशाब में बैक्टीरिया बन चुके हैं, क्योंकि ऐसा तब होता है जब आपके मूत्र मार्ग के रास्ते में संक्रमण पैदा हो जाए या फिर आप कि गुर्दे (किडनी) में पथरी बनने लगती है. इस तरह के संकेत आने पर आप डॉक्टर से एक बार जरूर जांच करवाएं.

पेशाब का रंग लाल हल्का गुलाबी :- आपके यूरिन का रंग हल्का या लाल गुलाबी इसलिए भी हो सकता है क्या आपने चुकंदर या स्ट्रॉबेरी खाया हो अगर यह सब खाया है तो इस पोस्ट पर ध्यान ना देना और लेकिन आप अगर सामान्य तौर पर इस तरह का पेशाब आपको आता है तो आपके पेशाब में लाल रंग का खून भी हो सकता है तो यह बेहद चिंताजनक विषय इस को डॉक्टर को तुरंत दिखाएं क्योंकि इन ऐसा अधिकतर तब देखा जाता है या तो कुछ लोग जब अपने शरीर की क्षमता से अधिक व्यायाम करते हैं उनके शरीर में लाल रक्त कोशिकाएं टूट जाती हैं और उनके पेशाब से अब यह गुलाबी रंग का या लाल रंग का यूरिन आना शुरू हो जाता है या यह किसी अन्य बीमारी का संकेत भी हो सकता है.  इसलिए अगर आपने उस दिन चुकंदर या स्ट्रॉबेरी नहीं खाया है तो फिर आप डॉक्टर को अवश्य दिखाएं. मर्दों के लिए बलशाली व एवं Sex समस्याओं का इलाज बरगद के दूध का प्रयोग कैसे करें

नारंगी रंग का यूरिन आना :- दोस्तों कई बार ऐसा होता है आप जब कोई दवा खाते हैं तो यह नारंगी रंग पैदा कर सकती है विशेषकर यूरिन से जुड़ी समस्याओं को सही करने के लिए कुछ ऐसी दवाएं होती है जब के पेशाब का रंग नारंगी रंग में बदल देती हैं और इसके अलावा कुछ लोगों को गाजर खाने से भी यह गाजर का रस पीने से उनके पेशाब का रंग हल्का नारंगी हो जाता है.

नीला या हरा यूरिन आना :- कई बार जैसा कि आपने ऊपर पड़ा पेशाब संबंधी समस्याओं को कम करने के लिए जो दवाइयां बनाई जाती हैं उन में विशेष डाई का इस्तेमाल होता है जिसकी वजह से भी आपके पेशाब का रंग हल्का नीला या हरे रंग में बदल जाता है. अगर आपने इस तरह की कोई दवाई पी है या खायी हो तो चिंता करने की बात नहीं है क्योंकि ऐसा होना स्वाभाविक ही है. या फिर आपने कुछ ऐसा खाना खाया हो जिसमें आर्टिफिशियल रंग का इस्तेमाल किया गया हो तब भी आपकी पेशाब का रंग नीला या हरा हो सकता है और अगर इन दोनों में से कोई कारन नहीं है और आपको इस रंग की यूरिन आ रही है तो आप चिकित्सक से अवश्य परामर्श करें. अगर आपके बाल झड़ते हैं तो आप हमारी यह पोस्ट पढ़ सकते हैं यहां पर आप घरेलू नुस्खों द्वारा बालों को झड़ने से कैसे रोके इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई है.

दोस्तों यह पोस्ट अगर आपको थोड़ी भी उपयोगी लगे तो कृपया इस को अपने फेसबुक प्रोफाइल पर जरूर शेयर करें क्योंकि हो सकता है आपका कोई मित्र इस तरह की बीमारी से परेशान हो या जानकारी के तौर पर भी दूसरे लोग इसको पढ़ सकते हैं हमारे ब्लॉग पर अपना कीमती वक्त देने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद.