खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय – खुजली की होम्योपैथिक दवा

खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय :- खुजली एक त्वचा से सम्बन्धी रोग है. जब शरीर के किसी वो हिस्से हो खुरचने का मन करता है या फिर उस जगह को रगड़ने का मन करता है तो खुजली होती है. खुजली में एक शरीर में एक तरह का सेनसेशन होता है जो कि त्वचा को नोंचने या खुजलाने पर मजबूर कर देता है.

और कई बार तो नहाने के बाद भी खुजली नहीं हटती नहीं है.कई बार खुजली सामान्य हो सकती है लेकिन कई बार यह त्वचा संबंधी किसी बीमारी या अंदरूनी किसी बड़ी बीमारी का संकेत भी हो सकती है। इचिंग या खुजली को स्वास्थ्य की भाषा में प्रूराइटस भी कहते हैं. खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय को करने से आपको राहत मिलेगी.

आपने देखा होगा की कई व्यक्ति अपने सर को पेट को, सिर को, नाक को, हाथों को और माथे के पीछे के हिस्से को तेजी से खुजलाता है.और कभी कभी बिना खुजली के खुजलाता है और इस तरह खुजाने के कुछ रोग होते है जैसे तनाव में रहना या फिर खुद जब अकेला मेहसूस करता है वो खुजलाता है.

मौसमी खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय 

खुजली के कई कारण हो सकते है जैसे कि तनाव और चिंता, बहुत देर धूप में रहने से या मौसम के बदलने के कारण भी खुजली हो सकती है. और शरीर पर छोटे छोटे पिम्पल्स हो जाते है जिनमे जलन के साथ खुजली भी होती है औषधि की विपरीत प्रतिक्रिया मतलब दवाइयों का उल्टा असर होना, मच्छर या किसी कीड़े के काटने से भी खुजली हो सकती है.

किसी खाद्य पदार्थ के खाने से भी खुजली हो सकती है. और भी कई कारण है जिनसे खुजली हो सकती है.खुजली ठीक करें  के उपाय बहुत ही आसान और बहुत सारे है लेकिन हमारा यह जानना भी जरूरी है खुजली होती कितने प्रकार है. खुजली के दो प्रकार होते है एक दानो वाली खुजली और बिना दानो वाली खुजली दूसरी खुजली होती है.

दाने या बिना दाने वाली खुजली अलग- अलग परिस्थितियों में अलग-अलग प्रकार की हो सकती हैं। कोई खुजली नहाने के बाद कम हो जाती है, कोई रात को कपड़े बदलते समय बढ़ जाती है, कोई गर्म सेंक से घटती है, कोई स्थान बदल देती है. एक जगह खुजली ठीक होती ही दूसरी जगह होने लगती है.

खुजली का आयुर्वेदिक इलाज

किसी खुजली में खुजलाते खुजलाते खून निकलने लगता है. बिना दानों वाली या दानों वाली खुजली खुश्क या तर हो सकती है. बिना दाने या दाने वाली खुजली के कारण खुजली के अन्य लक्षण उत्पन्न होते हैं. खुजली पूरी त्वचा, सिर, मुंह, पांव, अंगुलियों, नाक, हाथ या प्रजनन अंग आदि अंगों में हो जाती है.

खुजली अधिकतर इन्हीं स्थानों पर होती है. खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय बेहद आसान है जिन्हे आप बहुत आसानी से करके अपनी खुजली की समस्या को दूर कर सकते है. खुजली को ठीक करने के लिए आप जितना हो सके उतने फल–सब्जियों का उपयोग करें और यदि आपको ठण्ड के कारण खुजली होती है.

तो आप रोजाना नहाने से पहले सरसो के तेल और तिल के तेल को अपने शरीर पर अच्छी तरह से लगा कर मालिश करें.या फिर चमेली के तेल में नीबू का रस मिलाकर मालिश करें या फिर नीम के पेड़ पर पकी निबौली खाने से खुजली की समस्या नष्ट होती है.

पूरे शरीर में खुजली  ठीक करने के उपाय 

रक्त दूषित होने पर खुजली की विकृति होने पर नीम के कोमल गुलाबीपत्ते 6 ग्राम, काली मिर्च के 10 दाने पीसकर जल केसाथ सेवन करें. नीम के पत्तों को पानी में उबालकर, छानकर नहाने से खुजली खत्म होती है. नारियल के तेल में कर्पूर मिलाकर मालिश करने से खुजली खत्म करती हैं.

कच्चे हरे चनों का प्रतिदिन सेवन करें चने उपलब्ध ना होने पर अंकुरितचनों का सेवन करें. लहसुन को तेल में पकाकर, उस तेल को छानकर मालिश करने से खुजलीनष्ट होती है. खुजली से छुटकारा पाने के लिए आप मार्किट या मेडिकल स्टोर से जो दवा लाते हो उनका असर केवल उनके इस्तेमाल करने तक ही रहता है.

इसलिए अपनी खुजली को जड़ से ख़त्म करने के लिए आप आसान घरेलु उपाय करें.खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय जानने के लिए आप इस पोस्ट को पढ़ते रहिये. नींबू में विटामिन सी (vitamin c) उच्च मात्रा में पाया जाता है. खुजली से निजात के लिए नींबू बेहद अच्छे उपायों में से एक है.

खुजली होने पर क्या नहीं खाना चाहिए

नींबू में मौजूद वोलाटाइल त्वचा की सूजन और जलन को दूर करते हैं प्रभावित त्वचा पर नींबू के रस को रूई की सहायता से लगाया जा सकता है. और तीन हिस्से बेकिंग सोडा में एक हिस्सा पानी मिलाकर एक पेस्ट बनायें इस पेस्ट को प्रभावित स्थान पर लगाने से खुजली की समस्या से राहत मिलती है.

लेकिन त्वचा कटी-फटी हो तो बेकिंग सोडा लगाने से बचना चाहिए.क्योंकि बेकिंग सोडा में केमिकल होता है इससे कटे फ़टे जगह पर लगाने से खुजली तो ठीक हो जाती है लेकिन जलन बरक़रार रहती है. त्वचा के शुष्क होने या किसी कीड़े के काटने से, खुजली किसी भी कारण से हो, नारियल का तेल बेहद फायदेमंद होता है.

नारियल के तेल को खुजली वाले स्थान पर लगाकर हल्के हाथ से मालिश करें. इतना ही नहीं नारियल तेल को पूरे शरीर पर भी लगाया जा सकता है.यदि त्वचा बेहद संवेदनशील है, तो खुजली से निजात के लिए पेट्रोलियम जैली बेहद अच्छा उपाय है इसमें कोई भी रसायन नहीं होता और त्वचा पर बेहद प्रभावी भी होती है.

खुजली होने पर क्या नहीं खाना चाहिए

इसके इस्तेमाल से न केवल खुजली बल्कि त्वचा की अन्य समस्याएं भी हल हो जाती खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय को करने से आपको राहत मिलेगी  करने के लिए आपको पैसे खर्च करने की जरूरत नहीं है. तुलसी में थायमॉल, यूजीनॉल और कैंफर उच्च मात्रा में होते हैं जो खुजली और जलन से राहत देते हैं.

तुलसी की कुछ पत्तियों को अच्छी प्रकार धोकर, प्रभावित स्थान पर रगड़ने से खुजली और जलन से राहत मिलती है. एलोवरा मॉइश्चराइजर से भरपूर होता है जिससे रूखी त्वचा से होने वाली खुजली में यह असरकारी है एलोवेरा जेल प्रभावित त्वचा पर लगाने से खुजली, जलन और सूजन दूर होती है.

त्वचा पर एलोवेरा लगाने के लिए इसकी एक पत्ती को चाकू से बीच से चीर कर उसके अंदर से जैली को बाहर निकालें और शरीर पर हल्के हाथों से मसाज करें. सेब के सिरके का इस्तेमाल रूसी से निजात के लिए किया जाता है, उसी प्रकार खुजली में भी यह लाभदायक है सेब के सिरका में एंटीसेप्टिक और एंटीफंगल गुण होते हैं.

शरीर में खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय

जो कि त्वचा संबंधी समस्याओं से निजात दिलाते हैं. खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय बेहद आसान है. सेब के सिरका में रूई को भिगाकर प्रभावित स्थान पर लगाने से खुजली की समस्या से राहत मिलती है. नीम की पत्तियों को पानी में डालकर  नहायें. नीम में प्राकृतिक तौर पर एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो खुजली को दूर करते हैं.

निबौरी चबाने से भी रक्त साफ होकर खुजली दूर होती है.लेकिन ये भी बहुत ध्यान रखना जरूरी की है कि कुछ उपाय करने के साथ-साथ कुछ परहेज करना भी जरूरी है. उष्ण मिर्च–मसालों व अम्लीय रसों से बने खाद्य पदार्थों को बिल्कुल भी न खाएं. चाय, कॉफी, शराब, सिरका व अचार मांस, मछली, अंडे आदि का सेवन बिल्कुल भी ना करें.

क्योंकि इन से खुजली की समस्या घटने की वजाहे बढ़ जाती है.पसीने से भीगे हुए कपड़े को बिना धोये पेहेनना नहीं चाहिए. घी, तेल और मक्खन युक्त भोज्य पदार्थो का सेवन बिल्कुल न करें. और बाज़ारों में बिकने वाली खुली खाने की चीज़ों का सेवन न करें तो आपकी खुजली बहुत जल्दी ठीक हो जाएगी. खुजली ठीक करने के घरेलु उपाय को करने से आपको राहत मिलेगी.