चूना खाने के फायदे और नुकसान, चूना से आयुर्वेदिक इलाज कैसे करें- बहुत काम की जानकारी

आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि पान में खाए जाने वाले चूना कितना चमत्कारी हो सकता है आज इस पोस्ट में हम आपको चूना खाने के फायदे और उसके नुकसान के बारे में बताएंगे और चूने के द्वारा आयुर्वेदिक इलाज कैसे किया जा सकता है इसके बारे में भी चर्चा होगी| यह काम की जानकारी आप अंत  तक पढ़े और अपने दोस्तों के बीच शेयर करना ना भूले.

चूना खाने के फायदे
इस पोस्ट में हम आपको चूना खाने के फायदे और उसके नुकसान के बारे में बताएंगे और चूने के द्वारा आयुर्वेदिक इलाज कैसे किया जा सकता है

चूना खाने के फायदे हैं बहुत, जैसे चूने से पीलिया का अनोखा इलाज

आयुर्वेद में ऐसा कहा जाता है कि पान में खाए जाने वाला चूना 70 बीमारियों को ठीक करने की ताकत रखता है जैसे कुछ बीमारियां जिनमें से एक बीमारी पीलिया मतलब (Jaundice) है, अगर किसी को पीलिया हो गया हो तो उसको ठीक करने के लिए एक चने के डेन के बराबर जितना मात्रा में चूना लें और उसको एक गिलास गन्ने के रस में मिलाकर पिलाने से पीलिया की बीमारी पूरी तरह ठीक हो जाती है.

चूने के प्रयोग से नपुंसकता कैसे दूर करें ?

आपको यह जानकर भी ताज्जुब होगा की चूना खाने से नपुंसकता भी दूर होती है इसके लिए आपको नियमित रूप से चुना गन्ने के रस में सेवन करना होगा और लगभग 3 से लेकर 6 माह तक इसका प्रयोग करने से वीर्य पुष्ट होता है व शुक्राणुओं की संख्या बढ़ जाती है जिस तरह से युवकों के शरीर में नपुंसकता दूर करता है बिल्कुल ठीक उसी तरह स्त्रियों में भी चूना अंडे बनने में मदद करता है जिन माता बहनों के अंडे बनने में समस्या होती है उन्हें चूने का प्रयोग गन्ने के रस में मिलाकर शुरू कर देना चाहिए.

और एक बात जो लोग कितने हैं और लंबाई बढ़ाना चाहते हैं ऐसे लोगों को भी चूना बहुत फायदा करता है चूना खाने से आपके शरीर की हड्डियों को पर्याप्त मात्रा में कैल्शियम मिलता है और शरीर की लंबाई बढ़ाने के लिए चूना बहुत ही ज्यादा सहायक सिद्ध होता है. इसके लिए एक चने के बराबर चूने की मात्रा लगभग 100 ग्राम दही में मिलाकर खाने से बहुत लाभ मिलता है.

और अधिक चूना खाने के फायदे जानने के लिए अगले पेज पर जाएँ

अगले पेज पर जाने के लिए नीचे दिए गए Next बटन पर क्लिक करें

Prev1 of 3Next
आगे की पोस्ट पढ़ने के लिए Next Button क्लिक करें