एयर कंडीशन के नुकसान – Air Condition Ke Nuksan In Hindi

एयर कंडीशन जिसे A.C. के नाम से भी जाना जाता है. और जिसका इस्तेमाल गर्मी हो सर्दी हर मौसम किया जाता है है जो की हमारे वातावरण में मौसम को बदलता है जैसे यदि आपको बहुत तेज गर्मी लग रही है तो आप एयर कंडीशन के सामने बैठ जाइये आप की गर्मी दूर हो जाएगी.

एसी की हवा है नुकसानदेह
एसी की हवा है नुकसानदेह

 

ए.स का प्रचलन कुछ सालों से बहुत बढ़ गया है क्योंकि आज कल के मौसम या तो बहुत तेज गर्मी होती है बहुत तेज सर्दी कहने का अर्थ यह है की मौसम निरन्तर बदल रहा है. लेकिन एयर कंडीशन के नुकसान भी बहुत सारे है और जो लोग एयर कंडीशन का उपयोग करते है उनको कई बीमारियां घेर लेती है.

जैसा की आप जानते है की गर्मियां के सीजन में बिना पखें या कूलर के रहना बहुत ही ज्यादा कठिन होता है और और शरीर में गर्मी बढ़ने से कई रोग हो जाते है. इसीलिए ज्यादार लोग पखें और कूलर का इस्तेमाल करने लगे लेकिन इनसे बहुत शोर होता है.

एयर कंडीशन के नुकसान कारण होती है आंखों में जलन

इसलिए आज कल शोररहित एयर कंडीशन का उपयोग किया जाने लगा क्योंकि ये एक कूलिंग मशीन के द्वारा ठंडी हवा निकलती है जिससे यह कूलर के से ज्यादा ठंडक पैदा करता है. लेकिन  एयर कंडीशन के नुकसान होने के कारण आपको बीमारियों का खतरा रहता है. इससे कई शरीर के अंग प्रभावित होते है.

एयर कंडीशनर के ज्यादा इस्तेमाल से आपको कई सारे रोग हो सकते हैं जैसे कि ज्यादातर ऑफिस वर्क करने वाले लोग सिर दर्द की समस्या से बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं क्योंकि वह लगभग 8 से 10 घंटे इसी के सामने गुजारते हैं लेकिन इसका कारण एयर कंडिशनर नहीं बल्कि उससे निकलने वाली ठंडी हवा के कारण होता है क्योंकि यह हमारे शरीर के तापमान को बहुत ही निम्न स्तर पर रखता है.

एयर कंडीशन के नुकसान कारण होती है आंखों में जलन
एयर कंडीशन के नुकसान कारण होती है आंखों में जलन

इससे शरीर में गर्मी नहीं रहती जो हमारे शरीर के लिए जरूरी होती है और एयर कंडीशनर के कारण बहुत ज्यादा थकान, खांसी फ्लू आदि जैसे रोगों से जल्दी ग्रसित हो जाते हैं. एयर कंडीशन के सामने या अपास में बैठने से इससे निकलने वाली सुस्क हवा हमारी त्वचा और आंखों को प्रभावित करती है और इसके कारण आंखों में जलन, खुजली और यदि कांटेक्ट लेंस पहनते हैं तो उनके चिपकने का खतरा बहुत ज्यादा बढ़ जाता है.

और एयरकंडीशनर के कारण आंखें लाल होने लगती हैं जिससे आंखों से संबंधित कई समस्याएं हो जाती हैं जैसे कि कंजंक्टिवाइटिस और ब्‍लेफेराइटिस कि आंखो के लिए बहुत ही खतरनाक है जैसी समस्याएं हो जाती हैं.

एयर कंडीशन की हवा कर देती है त्वचा को ख़राब

एयर कंडीशनर से हवा में नमी की कमी हो जाती है एयर कंडीशन का उपयोग करने से यह हमारी आंखों ही नहीं बल्कि हमारे त्वचा को भी नुकसान पहुंचाती है क्योंकि हमारी त्वचा के लिए नमी का होना बहुत जरूरी होता है लेकिन एयर कंडीशनर के सामने बैठने या इसका उपयोग करने से इस से निकलने वाले शुष्क और ठंडी हवा हमारे शरीर की नमी को खत्म कर देती है.

जिससे शरीर की त्‍वचा का मॉश्‍चरराइज खत्म हो जाता है शरीर भी ही  जैसी समस्याएं भी हो जाती हैं और इस समस्या को दूर करने के लिए आप ज्यादा से ज्यादा पानी पीएं और अपनी त्वचा को मॉश्‍चरराइज ना भूलें यदि आप ज्यादा समय तक  वातानुकूलित स्थानों पर रहते हैं.

जिन व्यक्तियों को एयर कंडीशनर मैं रहने की लत लग जाती है उन्हें यह आदत बहुत नुकसानदेह होती है क्योंकि उन व्यक्तियों के गर्मी में मैं रहने की या गर्मी को झेलने की सहनशीलता खत्म हो जाती है अर्थात ज्यादा गर्मी को सहन नहीं कर पाते हैं और थोड़ी सी गर्मी में ही उन्हें बहुत तेज गर्मी लगने लगती है .

जिससे उन्हें कई शारीरिक बीमारी हो जाती हैं और फिर बड़ी मुश्किल से अपने शरीर को नियंत्रित कर पाते हैं  और यह उनके लिए ज्यादा नुकसानदायक है जो गर्मी वाले स्थान पर रहते हैं क्योंकि वह गर्म जलवायु खुद को नियंत्रित नहीं  कर पाते है ऐसे लोग AC रूम से गर्मी में बाहर निकलते हैं तो उनको त्वचा से संबंधी और सिर दर्द जैसी बीमारियां हो जाती हैं.

रक्त कोशिकाओं और मस्तिष्क कोशिकाओं को प्रभावित करती है AC की ठंडी हवा 

ए.सी. में बैठने से शारीरिक तापमान प्राकृतिक रूप से नहीं बल्कि कृत्रिम रूप से काम होता है जिससे शरीर की कोशिकाओं में सिकुड़न आ जाती है और शरीर में रक्त को बहने में समस्या होती है जिससे रक्तसंचार से समबन्धित बीमारियां हो जाती है और इसी कारण से शरीर की कार्य करने की क्षमता भी प्रभावित होती है.

और शरीर में बहुत जल्दी आलस बार जाता है. जिससे सुस्ती पुरे दिन भर शरीर में बनी रहती है.और यदि पहले से और कोई बीमारी है तो यह उसे बढाती है जैसे ब्‍लड प्रेशर और अर्थराइटिस के लक्षण बहुत तेजी से शरीर में बढ़ जाते हैं.एयर कंडीशन के नुकसान के कारण सांस लेने में तकलीफ होने लगती है

क्योंकि एयर कंडीशन की सफाई बहुत दिनों के बाद होने से इसमें मौजूद धूल और मिट्टी इकट्ठा होकर हमारे कमरे या ऑफिस में जमा हो जाती है जिससे कई तरह की एलर्जी बढ़ने के कारण की सांस लेने  की समस्‍याओं का कारण भी बनती है. और हवा में मौजूद जीवाणु ज्यादा सक्रिय हो जाते है जो हमारे सांस नली के द्वारा शरीर में पहुंचकर हमें और ज्यादा बीमार करती है.

AC के इस्तेमाल से आपके शरीर में मोटापा बढ़ सकता है यह एक सच है की ऐसी के कारण भी मोटापा बढ़ता है. क्योंकि वातावरण में तापमान कम होने के कारण हमारा शरीर अधिक सक्रिय नहीं हो पाता और शरीर की ऊर्जा का सही उपयोग नहीं हो पता है.

जिससे मोटापे का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है और एसी का तापमान ज्यादा कम होने के कारण हमारे मस्तिष्क की कोशिकाएं भी सिकुन्डने लगती है जिससे मस्तिष्क ठीक तरह से काम नहीं कर पाता और सिरदर्द और चिड़चिड़ापन बहुत ज्यादा बढ़ जाता है. ये कुछ एयर कंडीशन के नुकसान है जो हमारे शरीर को प्रभावित करते है.